पारसढ़ोह बांध विस्थापित ग्राम से गायब हुआ करोड़ों का विकास कार्य, ग्रामीणों की शिकायत पर बोरगांव पहुंची एसडीएम

0
364

मुलताई – सिंचाई विभाग द्वारा करोड़ों की लागत से किए गए पारसढ़ोह बांध विस्थापित ग्रामों में विकास कार्य गायब हो गए हैं। और विस्थापित ग्राम के ग्रामीण मूलभूत समस्याओं से जूझ रहे हैं। ग्राम बोरगांव के ग्रामीण शिकायत लेकर एसडीएम के पास पहुंचे तो संवेदनशील अनुविभागीय अधिकारी राजनंदिनी शर्मा विस्थापित ग्राम बोरगांव पहुंची जहां चौंकाने वाले तथ्य उजागर हुए। ग्रामीणों ने बताया कि सिंचाई विभाग ने लगभग 1करोड़ 9 लाख रुपए की लागत से पारसढ़ोह बांध के विस्थापित ग्रामों में विकास कार्य कराए थे।

जिन्हें आज विस्थापित ग्रामो में खोजना कठिन है। सिंचाई विभाग ने विस्थापित ग्राम बोरगांव मे रोड, नाली, पुलिया को पूर्ण बताकर वर्षों पूर्व ठेकेदार को पूरा भुगतान कर दिया। इस ग्राम की वर्तमान स्थिति यह है कि ठेकेदार द्वारा बनाई गई सड़कें गायब है। मार्ग में कीचड़ और गंदगी का अंबार लगा हुआ है जहां से पैदल चलना दूभर है। भवन में जगह-जगह दरारे आ रही है छत से पानी टपक रहा है। अनेक स्थानों पर नालियां बनाई ही नहीं गई है। ग्रामीण कहते हैं कि ठेकेदार भुगतान लेकर गायब हो गया किंतु वह कौन लोग थे जो बगैर कार्य पूर्ण हुए ठेकेदार को पूरा भुगतान कर गए।

समस्याओं को लेकर अब भी दर-दर भटक रहे ग्रामीण

बोरगांव के ग्रामीण बीते 7 सालों से निरंतर निर्माण कार्य की उच्च स्तरीय जांच की मांग करते रहे हैं किंतु अधिकारियों के कानों पर जूं तक नहीं रेगी। अब आधे अधूरे टूटे-फूटे कार्यों को ग्राम पंचायत अपने पजेशन में ले ले इसके लिए सिंचाई अधिकारी ग्राम पंचायत पर दबाव बना रहे है। दूसरी ओर मूलभूत सुविधाओं से जूझ रहे बोरगांव के ग्रामीण अपनी समस्याओं के समाधान के लिए अब भी दरदर भटक रहे हैं।

अनुविभागीय अधिकारी को बताई ग्रामीणों ने अपनी समस्या

ग्रामीणों की शिकायत के बाद जब एसडीएम एवं पत्रकार पारसढ़ोह विस्थापित ग्राम बोरगांव पहुंचे तो पाया करोड़ो के विकास कार्य नदारद हो गए हैं विकास कार्यों को आज खोजना कठिन है और ग्राम बोरगांव के ग्रामीण रोड नाली स्वच्छ पेयजल जैसी मूलभूत समस्याओं से जूझ रहे हैं।

इसकी शिकायत ग्राम पंचायत एवं ग्रामीणों ने एसडीएम राजनंदनी शर्मा से की थी। ग्रामीणों की समस्याओं को नजदीक से देख और समझ सके इसके लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पारसढ़ोह विस्थापित ग्राम बोरगांव पहुंची थी ग्रामीणों ने उन्हें अपने प्लाट रोड नाली गंदे पानी की समस्याओं से रूबरू कराया और उन्होंने ग्रामीणों को हर संभव मदद करने का आश्वासन दीया।

इनका कहना

इस ग्राम में बड़े स्तर का तो काम हुआ ही नहीं यहां तक कि प्राइमरी स्तर का काम भी पूरा नहीं किया गया। इस संबंध में कार्रवाई के लिए आगे अधिकारियों से बात करेंगे।
राजनंदिनी शर्मा
अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मुलताई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here