Multai Big News: नगर के मध्य से गुजरने वाला मुख्य मार्ग बना पार्किंग स्थल, हर घंटे लगता है जाम पैदल चलना हुआ मुहाल

0

प्रशासन को है शायद बड़ी दुर्घटना का इंतजार

ताप्ती के प्रथम पुलिया से लेकर नाका नंबर एक तक और फव्वारा चौक से स्टेशन चौक तक नगर का मुख्य मार्ग पार्किंग स्थल बनकर रह गया है। एक तो अतिक्रमण और दूसरी ओर दो पहिया चार पहिया वाहन पार्किंग और  प्रतिबंध के बावजूद मुख्य मार्ग से गुजरते भारी वाहन प्रशासनिक व्यवस्था को मुंह चिडाते प्रतीत होते हैं। प्रशासन की लापरवाही के चलते नगर की यातायात व्यवस्था चौपट होकर रह गई है जिसका प्रभाव आम नागरिक को सहित व्यापारियों के व्यवसाय पर भी बढ़ रहा है।

बुक स्टोर व्यापारी वासु जोशी बताते हैं कि एक तो मार्ग की चौड़ाई कम है और दोनों और चार पहिया वाहन खड़े कर दिए जाते हैं और घंटो बगैर रोक-टोक खड़े रहते हैं और ऐसे में जब भी कोई यात्री बस या बड़े वाहन मार्ग से गुजरता है जाम लग जाता है लोगों का पैदल चलना मुहाल हो जाता है और खड़ी गाड़ी में ड्राइवर नहीं होते अब किसे बोले ऐसा कोई नंबर भी नहीं है के अधिकारियों को इसकी सूचना दे सके। उल्लेखनीय है कि थाने मे शांति समिति की बैठक होती है बिगड़ी यातायात व्यवस्था और मुख्य मार्ग पर अतिक्रमण और पार्किंग की समस्या का मुद्दा उठता है

किंतु बैठक के बाद ना तो प्रशासन ने कभी इस समस्या को गंभीरता से लिया और ना ही बैठक में समस्या उठाने वाले लोग ही बैठक से आने के बाद यह बात याद रख पाते हैं जिसका खामियाजा आम आदमी को भुगतना पड़ता है। जिस तरह से नगर के मध्य की यातायात व्यवस्था बिगड़ रही है और जाम लग रहे हैं कभी भी गंभीर हादसा हो सकता है और तब शायद प्रशासन की भी आंख खुलेगी और जन प्रतिनिधि और नागरिक यह कहकर चिल्लाते नजर आएंगे कि हमने पहले कहा था।

नगर के मुख्य मार्ग पर पार्किंग की समस्या को देखते हुए नगर पालिका ने पुराने अस्पताल के समक्ष पार्किंग स्थल बना कर रखा है किंतु पार्किंग स्थल बनने के बावजूद यहां कभी पार्किंग नहीं होती पार्किंग मुख्य मार्ग पर ही होती है। नगर पालिका चाहे तो दो कर्मचारी तैनात कर पुलिस के साथ बेतरतीब ढंग से पार्क किए गए वाहनों पर चालानी कार्रवाई कर सकती है और मार्ग में खड़े वाहनों को पार्किंग स्थल में खड़े करवा सकती है। किंतु आज तक नगर पालिका ने ऐसे प्रयास नहीं किए दूसरी ओर पुलिस प्रशासन भी जब भी टारगेट की बात आती है माह में एक बार चालानी कार्रवाई की औपचारिकता निभाकर थाना लौट जाते है। और मजेदार बात तो यह है कि थाने के सामने जहां सबसे कम सकरा मार्ग है वहीं घंटो माल वाहक वाहन खड़े रहकर माल भरते और उतारते देखे जा सकते हैं। प्रशासन को चाहिए कि इससे पहले की कोई बड़ी दुर्घटना हो बड़े शहरों की तरह पहिया लाक का उपयोग कर मार्ग में खड़े  वाहनो के पहीयो को लाक करें और फिर इन पर नियमित चालानी कार्रवाई हो।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here