25 जून को आमला में जुटेंगे 11 देशों के शांतिदूत,अंतराष्ट्रीय सर्वधर्म शांति सम्मेलन होगा आमला में

0
319

संजय द्विवेदी

बैतूल। भारतीय उपमहाद्वीप का केन्द्र बिन्दु माने जाने वाले बैतूल जिले के लिए वह  गौरवशाली पल आने वाला है जब करीब 11 देशों के गणमान्य शांतिदूत बैतूल की धरती पर कदम रखेंगे। इससे न सिर्फ बैतूल अपितु पूरे प्रदेश व देश का नाम शांति, सर्वधर्म समभाव के लिए पूरे विश्व में गौरवान्वित होगा।

यह बात पत्रकार वार्ता में जिले की पूर्व डिप्टी कलेक्टर रहीं  निशा बांगरे ने कही।  बांगरे वर्तमान में छतरपुर में पदस्थ हैं और अजाक्स की प्रदेश उपाध्यक्ष हैं। इस पत्रकार वार्ता में पूरे देश में समाजसेवा के लिए प्रसिध्द गगन मलिक फाउंडेशन के पी एस खोबरागड़े , स्मिता वाकड़े कोषाध्यक्ष, मोहन वाकोड़े , अनिरुद्ध दुफारे , दिशा एजुकेशन सोसायटी के कैलाश वासनिक ,माधोराव रंगारे वेलफेयर सोसाइटी के राहुल रंगारे एवं इंजी.सुरेश अग्रवाल, संयोजक, अंतरराष्ट्रीय सर्वधर्म शांति एवम विश्व शांति सम्मान समारोह के मौजूद थे।

25 जून का विशेष दिन-

बैतूल जिले के लिए यह गौरव की बात है कि यहां प्रथम बार एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन होने जा रहा है। आगामी 25 जून को अंतर्राष्ट्रीय सर्वधर्म शांति सम्मेलन होगा। वहीं विश्व शांति प्रतिभा सम्मान भी प्रदान किया जाएगा। इसमें विश्व के करीब 11 देशों के प्रतिनिधि, देश के विभिन्न प्रदेशों के शांतिदूत, प्रदेश के विभिन्न जिलों के शांतिदूत शामिल होंगे। सम्मेलन सुबह 11 बजे से 5 बजे तक चलेगा।

विशाल अंतराष्ट्रीय केन्द्र का लोकार्पण

सर्वधर्म प्रतिनिधि/धर्मगुरु द्वारा सर्वधर्म प्रार्थना से  अंतर्राष्ट्रीय सर्वधर्म शांति एवं शिक्षा केन्द्र का भी शुभारंभ होगा। यह केन्द्र सेवा के लिए समर्पित निशा बांगरे के पूरे परिवार ने मिलकर तैयार किया है और यह 25 जून को समिति को समर्पित कर दिया जाएगा।

भगवान बुध्द की पवित्र अस्थियां भी आएंगी

कार्यक्रम में श्रीलंका के कानून मंत्री विजयदास राजपक्षे तथा विदेशी प्रतिनिधि अपने साथ भगवान बुद्ध की अस्थियां लेकर आएंगे, जिन्हें कार्यक्रम स्थल पर दर्शनार्थ रखा जाएगा।भोपाल से अपर मुख्य सचिव समेत देश भर से आएंगे कई गणमान्य हस्तियां कार्यक्रम में मध्यप्रदेश शासन के अपर मुख्य सचिव जे. एन. कंसोटिया  ,मशहूर चित्रकार पद्मश्री दुर्गाबाई बारिया, पद्मश्री भूरीबाई  तथा विश्वप्रसिद्ध अभिनेता गगन मलिक की भी प्रमुख उपस्थिति होगी।

खिचड़ा प्रसादी का गिनीज बुक का रिकार्ड बनेगा

इस अवसर पर विश्व शांति की कामनार्थ विदेश और देश के पवित्र स्थलो के जल और अन्न से अंतर्राष्ट्रीय खिचड़ा प्रसादी भी बनेगी, इसका रिकॉर्ड गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड में दर्ज कराने की तैयारी है। समिति ने बताया कि जिस तरह खिचड़ी में सभी अनाज आदि मिलकर उसे संपूर्ण भोजन बनाते हैं जो स्वास्थ्य वर्धक भी होता है ठीक उसी तरह सर्व धर्म, सर्व समाज , सर्व विचारधारा के लोग भी मिलकर इस संपूर्ण समाज को वैमनस्य की बीमारी से उभारें।

सदभाव यात्रा भी निकलेगी

आयोजन के प्रचार—प्रसार और इस महान उद्देश्य वाले कार्यक्रम से सभी को जोडने के लिए आमला क्षेत्र में अंतर्राष्ट्रीय सर्वधर्म सदभाव यात्रा भी निकाली जाएगी। इस यात्रा में डिप्टी कलेक्टर श्रीमती निशा बांगरे  का मार्गदर्शन मिलेगा। वे -हर घर अफसर, घर—घर अवसर- बनाने की पहल करेंगी। इसके जरिए बच्चों को कॅरियर आदि की जानकारी दी जाएगी। सभी बेरोजगार महिलाओं-पुरूषों और पढ़ने वाले बच्चों का पंजीयन होगा।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here