महंगा होगा भवन निर्माण बड़े गिट्टी के दाम,क्रेशर संचालकों ने कहा व्यापार बचाने की मजबूरी

0
347

मुलताई- भवन निर्माण सामग्री के बढ़ते दामों के बीच एक बुरी खबर यह है कि अब क्रेशर मालिकों ने भी गिट्टी के दामों में वृद्धि कर दी है जिससे भवन निर्माण की लागत में और इजाफा होगा। हालांकि क्रेशर मालिकों ने इस मूल्यवृद्धि को क्रेशर व्यवसाय को बचाने के लिए मजबूरी में उठाया गया कदम बताया है।

यह निर्णय मुलताई में आयोजित क्रेशर संगठन की बैठक में लिया गया है जिसमें संपूर्ण जिले के क्रेशर संचालकों ने भाग लिया।  बैठक मुलताई में हुई जिसमें जिला एसोसिएशन के सदस्य भी शामिल हुए उक्त बैठक में सभी क्रेशर संचालको को उत्पादन में आ रही कठिनाइयों तथा  महंगाई के कारण उत्पादन लागत में व्रद्धि के चलते सर्व सम्मति से गिट्टी की नई दर निर्धारित की गई जो निम्नानुसार है 20 एम एम 25 रु/ ,40 एम एम 25 रु,/स्टोन सेंड 20 रु/ ,6से10, 10 रु तथा सी आर एम 15/ रु प्रति फिट होंगी उक्त दर क्रेशर   होंगी जो 28 /12/ 2022 से लागू होंगी /

एक ट्राली गिट्टी ढाई हजार रु. ,400 फीट डंफर 10 हजार रू

मुलताई नगर में कुल 25 क्रेशर संचालित है जिसमें अब मिलने वाली गिट्टी के उपभोक्ताओं को प्रति 100 फीट की ट्राली पर ₹500 अधिक लगेंगे पहले जो 100 फीट की ट्राली का मूल्य ₹2000 हुआ करता था अब वह ढाई हजार रुपए में क्रेशर से प्राप्त होगी इसके अलावा क्रेशर से अपने घर पहुंचाने का किराया भी उपभोक्ता को अपने जेब से खर्च करना पड़ेगा। इस प्रकार अब मुलताई नगर के गिट्टी उपभोक्ता के घर गिट्टी मोटा माटी ₹3000 रुपए ट्राली में पहुंच सकेगी।  400 फीट के डंफर गिट्टी का मूल्य क्रेशर पर ₹10000 होगा।

क्रेशर संचालको ने क्यों बढ़ाया दाम

क्रेशर संचालकों की मूल्य वृद्धि को लेकर  हुई बैठक में संचालकों ने मूल्य वृद्धि को अपनी मजबूरी बताते हुए कहा कि अगर दाम नहीं बढ़ाए जाते तो जिले के अधिकांश क्रेसर बंद करने पड़ते क्योंकि पिछले कुछ वर्षों में डीजल, पेट्रोल, लेबर, स्पेयर पार्ट्स मजदूरी सभी के दामों में दुगने का इजाफा हुआ है

जिससे क्रेशर संचालकों की लागत मूल्य बढ़ गई है। क्रेशर संचालक तकीऊल हसन रिजवी  ने बताया कि क्रेशर व्यवसाय विकास का आधार है जिसे जुड़कर अनेक परिवार आजीविका पाते हैं। बीते 10 वर्षों मे भवन निर्माण में उपयोग होने वाली रेतू  जो सीदे खदानों से आती है उसका मूल्य 10 गुना बढ़ गया पहले डेढ़ हजार रुपए ट्राली में आने वाली रेट आज ₹5000 में बिक रही है। जबकि गिट्टी निर्माण लागत में डबल का इजाफा हो गया है किंतु उसके  मूल्य वही है। ऐसे में अनेक क्रेशर संचालक जो कम पूंजी में छोटे व्यवसाय कर रहे हैं वह आज बंद होने की कगार पर है। इसलिए मजबूरी में गिट्टी के दरों में वृद्धि की गई इस बैठक में क्रेशर संचालक मुरारी अग्रवाल, अशोक अग्रवाल, राजू देशमुख आमला, उमेश साहू, जीवन डोगरदिए, आनंद सरोदे सहित अनेक क्रेशर संचालकों ने भाग लिया।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here