BETUL में घना कोहरा, जिला शीतलहर की चपेट में सुबह 11 बजे तक छाई रही कोहरे की चादर

0
280

संजय द्विवेदी बैतूल

नए साल के चौथे दिन से सर्दी ने बैतूल मुख्यालय सहित पूरे जिले में अपना रौब दिखाना शुरू कर दिया है। वैसे तो मौसम के करवट बदलते ही पूरे प्रदेश भर में लोगों को इस सीजन में पहली बार कड़कड़ाती ठंड का अहसास होने लगा है।

प्रदेश के लगभग 11 जिलों में घने कोहरे और कोल्ड डे का अलर्ट भी मौसम विभाग द्वारा जारी किया गया। जिसमें बैतूल जिला भी शामिल है। इन जिलों में कोहरे और कड़कड़ाती ठंड के कारण हालात और बिगड़ सकते है और शाम को गलन के साथ ठंड भी पड़ सकती है। नए वर्ष में बुधवार को पहली बार बैतूल में इतना घना कोहरा छाया कि विजिबिलिटी मात्र कुछ मीटर तक ही रह गई। कड़ाके की ठंड से लोग सुबह 11 बजे तक कांपते नजर आये। वहीं इस कड़कड़ाती ठंड से सबसे ज्यादा मुसीबत स्कूल जाने वाले नौनिहालों को हुई। अलसुबह उठकर स्कूल जाने वाले नन्हे-मुन्ने बच्चों को इस कड़ाके की ठंड और घने कोहरे का किसी तरह सामना करते हुए स्कूल पहुंचते देखा गया।

पूरे जिले में शीतलहर का प्रकोप जारी-

बीती मंगलवार की रात में पड़ी कड़ाके की ठंड का असर अलसुबह से देखने को मिला, पूरा बैतूल जिला शीत लहर की चपेट में आ गया है। सुबह हर तरफ  घना कोहरा छाया हुआ था तथा ठंड़ी-ठंड़ी हवा चल रही थी। इससे मॉर्निंग वॉक करने वाले लोग भी घरों में दुबके नजर आये, वहीं फोरलेन पर वाहन, लाइट जलाकर रेंगते हुए नजर आये। आज जोरदार सर्दी पड़ने और तापमान में भी गिरावट होने का अहसास भी लोगो को रोज की अपेक्षा अधिक रहा। इस कड़ाके की ठंड से रबी सीजन की फसलों को बहुत फायदा होगा, वैसे तो जिन किसानों ने एक-डेढ़ माह पूर्व गेहूं की फसल की बोनी कर दी थी और उसके बाद ठंड कम पड़ रही थी तथा दिन का तापमान भी अधिक रहने से गेहूं की फसल में ग्रोथ कम हो रही थी लेकिन अब पड़ रही कड़ाके की ठंड से उनकी गेहूं की फसल में सुधार होगा।

ठिठुरते हुए स्कूल पहुंचे बच्चे-

बुधवार की सुबह 11 बजे तक कंपकंपाने वाली कड़कड़ाती ठंड ने लोगों को घर पर दुबकने के लिए मजबूर कर दिया। लोग घरों में अलाव जलाकर बैठे नजर आये, वहीं इस कड़कड़ाती ठंड की मार आज स्कूली बच्चों को सबसे ज्यादा झेलनी पड़ी। शहर के कुछ निजी स्कूलों में अलसुबह सात बजे उठकर  कंपकंपाते हुए बच्चे स्कूल जाते नजर आए। कुछ स्कूलों में खासकर ग्रामीण इलाकों से आने वाले छोटे-छोटे बच्चों को सबसे ज्यादा ठंड का प्रकोप झेलते देखा गया। इनमें से कुछ बच्चे तो गर्म कपड़े नहीं होने की वजह से सिर्फ  स्कूल ड्रेस पहनकर ही स्कूल पहुंच गए थे। इधर मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों तक ऐसे ही ठंड का प्रकोप जारी रहने का पूर्वानुमान जताया है। बीती रात का बैतूल का न्यूनतम तापमान 9.5 डिग्री सेल्सियस रहा है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here