धार जिले मे  मिला 200 साल पुरानी सोने की गिन्नी से भरा मटका, मजदूरों ने आपस में बांटा पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
490

भोपाल- मध्य प्रदेश के धार जिले मे पुराना निर्माण तोड़ते समय आठ मजदूरो को जमीन के नीचे 200 साल पुरानी सोने की गिन्नी से भरा  खजाना मिला। जिसे मजदूरो ने आपस मे बांट लिया।

दरअसल आठो मजदूरो को 2,600 वर्ग फुट के एक पुराने निर्माण को गिराने का काम कर रहे थे तभी  उन्हे खुदाई करते समय एक धातु का बर्तन मिला जिसके अंदर सोने के आभूषण और लगभग 84 सोने के सिक्के थे। उसी स्थान पर सोने के 2 अन्य टुकड़े भी मिले। इस खजाने के प्राप्त होते ही 8 मजदूरों ने खजाने को आपस में बांट लिया यह मामला तब सामने आया जब एक मजदुूर ने अपना कर्ज चुकाने के लिए 56,000 रुपये का एक सिक्का बेचा और यह खबर खुद तक  नही रख सका क्योकि उसने बहुत से लोगो से अपनी किस्मत के बारे मे बात की थी।

मामला पुलिस के संज्ञान मे आया तो पुलिस ने आठो को गिरफ्तार कर लिया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कुल सोने का वजन लगभग 1 किलोग्राम है जिसकी कीमत लगभग 60 लाख है। यह राशि तब और बढ़ सकती है जब पुरातात्विक दल ने इस खजाने का मूल्यांकन यह ध्यान मे रखते हुए किया कि  खजाना 200 साल से अधिक पुराना है। गिन्नियों का वजन 10 से 11 ग्राम के आसपास है। सभी जोधपुर रियासत की बताई जा रही हैं।सूचना पर, इंदौर के पुरातत्व विभाग (एएसआई) ने 83 सिक्के और अन्य 2 सोने के टुकड़े बरामद किए। साथ ही एएसआई इंदौर के प्रधान आशुतोष महाशब्दे ने बताया कि प्लाट मे अन्य  खजाने की तलाश मे खुदाई की जा रही है। किंतु अब तक कोई सफलता नहीं मिली है।

शिवनारायण राठौड़ के पुराने घर में मिला था खजाना

धार के नालछा दरवाजा इलाके मे  चिटनीस चौक में शिवनारायण राठौड़ का मकान है। मकान दो हिस्सों में बना हुआ है। एक हिस्से में परिवार रहता है। दूसरा हिस्सा जर्जर था और इसे तोड़कर नया मकान बनाया जा रहा है। मजदूर एक महीने से यहां काम कर रहे हैं।

मजदूरों को जन्माष्टमी और इसके दो दिन बाद दीवार गिराते समय गिन्नियां मिली थीं। इसे 8 मजदूरों ने आपस में बांट लिया था। इसकी भनक मकान मालिक शिवनारायण तक को नहीं थी। सभी 8 मजदूर हिम्मतगढ़ के रहने वाले हैं और पुलिस इन्हें गिरफ्तार कर चुकी है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here