गोली कांड की बरसी पर 25वां शहीद किसान स्मृति सम्मेलन संपन्न

0
164

मुलताई- गोली कांड की बरसी पर आयोजित 25वां शहीद किसान स्मृति सम्मेलन एवं 301वीं किसान महापंचायत का कार्यक्रम किसान संघर्ष समिति के  वरिष्ठ किसान नेता राकेश टिकैत डॉ सुनीलम प्रेमचंद मालवीय उपस्थिति में संपन्न हुआ।

जिसमें गोली चलाने में शहीद हुए 24 किसानों के श्रद्धांजलि कार्यक्रम में भाग लेने संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत सहित प्रदेश के किसान संगठनों के अनेक प्रतिनिधियों ने भाग लिया।किसान संघर्ष समिति द्वारा आयोजित 25 वां  शहीद किसान स्मृति सम्मेलन एवं 301वीं किसान महापंचायत मुलतापी की ताप्ती लॉन के भवन में प्रेमचंद मालवीय की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ।

शहीद किसानों के परिवारो को किया सम्मानित

सम्मेलन शुरू होने के पहले संयुक्त किसान मोर्चा के नेता राकेश टिकैत एवं हजारों किसानों ने परमंडल में शहीद किसान स्तंभ तथा शहीद मनोज चौरे की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की।वे किसानों की मोटरसाइकिल रैली के साथ किसान स्तंभ, मुलतापी पहुंचे। जहां मुलतापी के नागरिकों एवं विभिन्न संगठनों के साथ उन्होंने श्रद्धांजलि अर्पित की  तत्पश्चात ताप्ती जी के दर्शन कर गुरूद्वारा में मत्था टेकने पहुंचे। सम्मेलन में उनके द्वारा शहीद किसान के परिवार के सदस्य को शाल श्रीफल से सम्मानित किया गया तथा विद्या मेमोरियल ट्रस्ट की ओर से 24 प्रतिभावान छात्राओं को पुरस्कृत किया गया।

आचार्य कांग्रेस भाजपा ने शहीदों को श्रद्धांजलि नहीं दी

शहीद किसानों की 25 वीं बरसी के अवसर पर बोलते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार द्वारा आज तक शहीद किसानों के लिए 1 इंच भी जमीन आवंटित नहीं किया जाना सरकारों की किसान विरोधी नीतियों को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि मुझे यह जानकर आश्चर्य हुआ कि कांग्रेस और भाजपा पार्टी के द्वारा शहीदों को श्रद्धांजलि नहीं दी गई। राकेश टिकैत ने डॉ सुनीलम सहित 3 किसानों को न्यायालय द्वारा सजा दिलाने के फैसले को अन्यायपूर्ण बताते हुए सरकार से दोषियों को सजा दिलाने की मांग की ।शहीद किसान स्मृति सम्मेलन को संबोधित करते हुए डॉ सुनीलम ने कहा कि राकेश टिकैत के साथ मुलताई के किसानों का खानदानी संबंध है और महात्मा टिकैट से लेकर राकेश टिकैत तक उन्होंने इस संबंध को निभाया है। गोली चालन के बाद महात्मा टिकैट सैकड़ों किसानों के साथ मुलताई आए थे और उन्होंने सरकार को चुनौती दी थी। डॉ सुनीलम ने कहा कि आज मुलतापी घोषणा पत्र 2023 में जो प्रस्ताव पारित किए गए हैं, उन्हें सरकारों से लागू कराने के लिए किसान संघर्ष समिति पूरी ताकत के साथ, एक साथ संघर्ष करेगी। आज प्रदेश भर से आए किसानों ने यह संकल्प लिया है कि हम एमएसपी की कानूनी गारंटी लागू कराकर रहेंगे ।सम्मेलन को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, वरिष्ठ श्रमिक नेता कृष्णा मोदी, औरंगाबाद से एस एम जोशी फाउंडेशन के सुभाष लोमटे अ भा किसान सभा के रामनारायण कुरेरिया, भारतीय किसान श्रमिक जनशक्ति यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष संदीप ठाकुर, किसंस की उपाध्यक्ष एड आराधना भार्गव, कटनी से किसंस के उपाध्यक्ष डॉ एके खान, किसंस के संयोजक संयोजक रामस्वरूप मंत्री, विश्वजीत रतौनिया आदि ने संबोधित किया।

सम्मेलन में इन किसान नेताओं ने लिया भाग

सम्मेलन में भाकियू के प्रदेश अध्यक्ष अनिल यादव, नागपुर से सामाजिक कार्यकर्ता विलासराव भोगाड़े, छत्तीसगढ़ के किसान नेता पलविंदर सिंह, दिल्ली से सामाजिक कार्यकर्ता शशि भूषण, सरोज पासवान, धर्मेंद्र, ललित, मुस्कान, प्रभा, भारतीय किसान एवं मजदूर सेना के प्रदेश अध्यक्ष बबलू जाधव, इंदौर से शैलेश पटेल, लाखनसिंह डाबी, सोहन यादव, एआईकेकेएमएस के महेंद्र नायक, कटनी से  देवी दिन गुप्ता, किसंस के संयोजक इंद्रजीत सिंह शंखू, निसार आलम अंसारी, किसंस के प्रदेश सचिव लीलाधर चौधरी, डॉ राजकुमार सनोडिया, श्री राम सेन जी, राजेश बैरागी जी, किसंस के जिलाध्यक्ष रामकुमार सनोडिया, अभिनय श्रीवास, ललीत मिश्रा, रमाशंकर मिश्रा, मनोज कोल, इंद्रसेन निमोनकर, शत्रुघन यादव, छिंदवाड़ा से सज्जे पटेल, बलराम पटेल, सतीश जैन, श्रीकांत वैष्णव,भोपाल से सुरेश पाटीदार, सुहास मल्होत्रा, शैलेश यादव, शिवशंकर राठौर, सिवनी से मोनू राय, सहित अनेक किसान संगठनों, जन संगठनों के प्रतिनिधि शामिल हुए।

———————————————————————————————

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here