आज भारत को आत्मनिर्भर बनाने की आवश्यकता हैः कृषि मंत्री कमल पटेल, मुलताई को जिला बनाने को करेंगे हर संभव प्रयास

मुलताई -आज भारत को आत्मनिर्भर बनाने की आवश्यकता है और यह कार्य अकेली सरकार से नहीं होगा इसके लिए सबको साथ आना होगा उक्त बात अभिभाषक संघ मुलताई के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने आए मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने न्यायालय परिसर में आयोजित अभिभाषक संघ शपथ ग्रहण समारोह में कहीं

कमल पटेल ने इस अवसर पर मुलताई नगर की प्रमुख मांग मुलताई को जिला बनाने को लेकर कहा कि वह सैद्धांतिक रूप से मानते हैं कि जितना ज्यादा विकेंद्रीकरण होगा उतना ज्यादा विकास होगा इसलिए वह मुलताई को जिला बनाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे इसके लिए मुख्यमंत्री से भी चर्चा करेंगे। कृषि मंत्री कमल पटेल ने अभिभाषक संघ की बैठक आदि व्यवस्था के लिए 5 लाख रुपए दिए जाने की घोषणा की, साथ ही उन्होंने कहा कि वह लाइब्रेरी आदि की व्यवस्था भी करेंगे उन्होंने  नगर पालिका अधिकारी को कहा कि न्यायालय परिसर के समक्ष तत्काल वाहन पार्किंग की व्यवस्था करें।

This image has an empty alt attribute; its file name is btl-26-5-22-341.jpg

कृषि मंत्री कमल पटेल के नगर आगमन पर जगह जगह उनका स्वागत किया गया । बैतूल रोड स्थित गगनदीप खरे के निवास पर नगर के पत्रकारों द्वारा कमल पटेल का भव्य स्वागत किया  साथ ही पत्रकारों ने नगर पालिका अधिकारी से संबंधित शिकायत पत्र मंत्री को सौंपा, बस स्टैंड पर भारतीय जनता युवा मोर्चा नगर मंडल अध्यक्ष योगेश यादव के नेतृत्व में स्वागत किया गया इसके उपरांत मंत्री का काफिला न्यायालय परिसर पहुंचा जहां नवनिर्वाचित अभिभाषक संघ अध्यक्ष सीएस चंदेल एवं समस्त नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को शपथ दिलाई गई ।

This image has an empty alt attribute; its file name is btl-26-5-22-344.jpg

इस अवसर पर अभिभाषक संघ के अनेक वरिष्ठ अधिवक्ता गण उपस्थित थे। शपथ ग्रहण के उपरांत तहसील की प्रतिभावान छात्राओं को मंत्री ने सम्मानित कर प्रोत्साहन राशि के रूप में 10 -10 हजार रुपए दिए जाने की घोषणा की, उन्होंने कहा कि जब समाज में कोई अच्छा कार्य करता है तो उन्हें हम प्रोत्साहन के रूप में सम्मानित करते हैं किंतु जब कोई बुरा काम करता है तो समाज में उनका तिरस्कार करना चाहिए उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि जब हमारे घर परिवार में कोई कष्ट होता है तो हम बगैर कुछ कहें उनकी सेवा करते हैं इसी प्रकार यह हमारा समाज भी हमारा परिवार है अगर हम सक्षम है तो गरीब और मजबुरों की मदद करें और जब हम देश प्रदेश को अपना परिवार मानेंगे तो फिर कहीं अन्याय नहीं होगा कहीं शोषण नहीं होगा और हम सब परिवार में मिलजुल कर रह सकेंगे।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here