विवाद समाप्त कर न्यायालय में पति  पत्नी ने पहनाई वरमाला ,न्यायाधीश के समक्ष बेटी जानवी के लिए एक दूजे के हुए प्रह्लाद स्वाति

मुलताई-  डेढ़ वर्षो से प्रथम अपर जिला न्यायाधीश के न्यायालय में पति प्रह्लाद डोगरदिए निवासी भिलाई और पत्नी स्वाति डोगरदिए के तलाक का मामला विचाराधीन था पति पत्नी दोनों अलग रह रहे थे और दोनों की एक डेढ़ वर्ष की बच्ची जानवी भी थी आज लोक अदालत में न्यायाधीश शालिनी शर्मा सिंह एवं अधिवक्ता राजेंद्र उपाध्याय कि समझाइश के बाद मासूम बच्ची जानवी के भविष्य को देखते हुए पति पत्नी दोनों में सुलह हुई न्यायालय परिसर में फिर से वर्षों से रूठे पति पत्नी ने एक दूसरे को वरमाला पहनाई और न्यायालय परिसर न्यायाधीश अधिवक्ता इस नए विवाह के साक्षी बने।

This image has an empty alt attribute; its file name is btl-14-5-22-341.jpg

मामले के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रह्लाद डोगरदिए निवासी भिलाई और पत्नी स्वाति डोगरदिए का विवाह 13 जून 2019 को हुआ था 2 माह बाद अगस्त 20 19 को पति-पत्नी में विवाह सुनने करने के लिए विवाद का मामला न्यायालय में पेश हुआ फरवरी 2020 में दोनों में फिर राजीनामा हो गया दोनों पति पत्नी साथ में लगे कुछ दिनों बाद दोनों फिर याद प्रारंभ हुआ और डेढ़ वर्ष पूर्व पति पत्नी ने एक दूसरे पर गंभीर आरोप लगाते हुए एक दूसरे से अलग हो गए वर्तमान समय में पति-पत्नी डेढ़ वर्षो से अलग रह रहे थे और मामला प्रथम अपर जिला न्यायाधीश शालिनी शर्मा के न्यायालय में चल रहा था जो आज समाप्त हुआ और एक सुखद जीवन का पुनः आरंभ हुआ इस संबंध में पति के अधिवक्ता राजेंद्र उपाध्याय ने बताया कि वर्तमान समय में सामाजिक ताना-बाना उलझता जा रहा है और पति पत्नी के बीच पारिवारिक विवाद के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं छोटी-छोटी बातों को लेकर विवाद के चलते न्यायालयो का बोझ भी बढ़ता जा रहा है ऐसे में लोक अदालते रूठे को मनाने और पति पत्नी को एक साथ जीवन बिताने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। शनिवार को जिला न्यायाधीश शालिनी शर्मा सिंह के प्रयासों से फिर एक खुशहाल जीवन का आरंभ हुआ है वह लोक अदालतो से अच्छे परिणाम की आशा जगाते है।

This image has an empty alt attribute; its file name is btl-14-5-22-344.jpg

नेशनल लोक अदालत में हुआ अनिल प्रकरणों का निपटारा

मुलताई -अफसर जावेद खान, प्रधान जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बैतूल के निर्देश एवं मार्गदर्शन में तहसील न्यायालय मुलताई मे नेशनल लोक अदालत आयोजित की गई । नेशनल लोक अदालत का शुभारंभ तहसील विधिक सेवा संमित्ति मुलताई के अध्यक्ष एवं अपर जिला न्यायाधीश शालिनी शर्मा सिंह द्वारा किया गया जिसमें न्यायिक अधिकारीगण  पंकज चतुर्वेदी, द्वितीय अपर जिला न्यायाधीश,  दिनेश मीणा,  आकांक्षा टेकाम, निकिता चौहान, अभिषेक साहू,  कृष्णपाल सिंह सिसोदिया एवं अधिवक्ता संघ मुलताई के अध्यक्ष  सी.एस. चंदेल अधि, एवं अन्य अधिवक्तागण एवं पक्षकार उपस्थित रहे ।न्यायाधीश  शालिनी शर्मा सिंह द्वारा अधिवक्ताओं को लोक अदालत में अधिक से अधिक. प्रकरणों में राजीनामा एवं समझौता करने की समझाइश दी गईं। न्यायाधीश श्रीमति शालिनी शर्मा सिंह के न्यायालय में मोटर-दुर्घटना दावा के 44 प्रकरणों का निराकरण कर 2848340/- की राशि का अवार्ड पारित किया जाकर 40 पक्षकारों को लाभन्वित किया गया एवं  पंकज चतुर्वेदी द्वितीय अपर जिला न्यायाधीश के न्यायालय में मोटर-दुर्घटना दावा के 02 प्रकरणों का निराकरण कर 80,000/- राशि का अवार्ड पारित किया जाकर 05 पक्षकारों को लाभान्वित किया गया।
इस प्रकार मुलताई न्यायालय में कुल 449 प्रकरणों का निराकरण किया. एवं एवं सम्पत्तिकर, जलकर एवं दुकान किराया एवं बैंक के कुल 28 प्रकरणों का निराकरण
किया गया।
———/——————————–/—

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here