पांढुरना स्वास्थ्य मेले ने पाया प्रदेश में प्रथम स्थान ,8675 मरीजों को मिला स्वास्थ्य मेले का लाभ

पांढुरना से अजय टावरे

पांढुरना -स्थानीय सिविल अस्पताल में संपन्न विशाल स्वास्थ्य मेले ने प्रदेश का रिकार्ड तोड दिया है। इस मामले में जानकारी देते हुए बी.पी.एम. रविंद्र पराडकर ने बताया कि आज 29 अप्रैल को प्रदेश भर में आजादी के अमृत महोत्सव अवसर पर जितने भी स्वास्थ्य शिविर आयोजित हुए है उनमें सर्वाधिक मरीजों के पंजीयन एवं उपचार में के आधार पर पांढुरना विकासखंड ने प्रदेश में प्रथम स्थान पाया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार नगरीय एवं ग्रामीण परिसर के 8 हजार 6 सौ 75 मरीजों ने स्वास्थ्य लाभ उठाया। इस मेले का प्रचार प्रसार एस.डी.एम. आर. आर. पांडे के निर्देशन में जनपद कार्यालय पांढुरना के कार्यपालन अधिकारी ललित चौधरी ने सचिव, सरपंच और अन्य ग्रामीण प्रतिनिधियों के माध्यम से कराया था। इस मेले के शुभारंभ अवसर पर विधायक निलेश उईके, जनपद अध्यक्ष गणेश पद्माकर, नपा अध्यक्ष प्रवीन पालीवाल, पूर्व विधायक मारोतराव खवसे, नगरपालिका उपाध्यक्ष अरूण भोसले, जनपद उपाध्यक्ष सुनिल रबडे के सिवाय कांग्रेस एवं भाजपा के अनेक जनप्रतिनिधि मौजूद थे। मेले की व्यवस्थाएं देखने के लिए एसडीएम आर. आर. पांडे सुबह से ही अस्पताल में मौजूद थे। इसके साथ ही जिला स्वास्थ्य अधिकारी जी.सी. चौरसिया, बी.एम.ओ एवं पांढुरना नरेश गोन्नाडे के अलावा अन्य मौजूद रहे।

This image has an empty alt attribute; its file name is hum0191.jpg

     -ः 9 हजार भोजन पैकेट एवं 10 हजार गिलास शर्बत बंटा :-

आज इस स्वास्थ्य मेले में पहुंचे मरीजों के लिए भोजन की व्यवस्था आदित्य क्लब के सौजन्य से की गई थी। आदित्य क्लब संचालक प्रवीन चौहान ने बताया कि आज लगभग 9 हजार सब्जी एवं पुरी के पैकेट हमारी संस्था ने वितरीत किए। इसके साथ ही तेजी गर्मी में रूहआफजा शर्बत के 10,000 ग्लास वाहेगुरू फाउंडेशन की ओर से वितरीत किए गए। प्रदेश में प्रथम स्थान पर रहे आज के पांढुरना स्वास्थ्य मेले में 526 की डिजीटल आयडी, 104 के आयुष्मान कार्ड, 114 टेलि कंसल्टेशन के, 337 स्त्री रोग उपचार, 3781 सामान्य महिलाएं, 118 शिशु रोगी, 799 संचारी एवं असंचारी रोगी, 98 कैंसर, 95 हृदय रोग, 140 अस्थमा, 52 दंतरोग, 135 नाक कान एवं गला, 630 मेडीसीन, 47 मानसिक रोग, 240 अंधत्व निवारण, 158 टी.बी., 15 कुष्ठ रोगी, 447 त्वचा रोगी, 1841 ब्लड टेस्ट, 45 बच्चे, 749 परिवार कल्याण, 22 रक्तदान, 83 एच.आय.वी., 52 वैक्सीनेशन, 809 आयुष ओपीडी एवं अन्य कई सेवाएं दी गई।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here