भोपाल -मध्य प्रदेश में 23 मार्च से 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों के लिए बड़ा कोरोना वैक्सीन नेशन अभियान प्रारंभ होगा। प्रदेश में मौसम में आए बदलाव एवं अचानक गर्मी बढ़ने के कारण इस टीकाकरण अभियान में बड़ा बदलाव किया जा रहा है। प्रदेश में इस आयु वर्ग के 30 लाख से ज्यादा बच्चों का टीकाकरण किया जाना है।अब हर बच्चे को कॉर्बेवैक्स वैक्सीन लगाने से पहले ORS का घोल दिया जाएगा। इसके बाद ही टीका लगाया जाएगा। यह व्यवस्था वैक्सीन लगाने वाले सभी स्कूलों व हेल्प सेंटर पर की जा रही है। इससे बच्चों को डिहाइड्रेशन नहीं होगा न ही उनकी तबीयत खराब होगी।केंद्र सरकार की तरफ से सेंट्रल कोविड पोर्टल में साफ निर्देश है कि 12 से 14 वर्ष के बच्चों को ही यह टीका लगाए। इस आयु वर्ग में 2008 व 2009 में पैदा हुए बच्चों के साथ 15 मार्च 2010 तक जो बच्चे 12 साल पूरा कर रहे हैं। वहीं इसके पात्र हैं।इससे एक दिन कम आयु के बच्चों को अभी टीका नहीं लगाया जाएगा। टीका लगाने वाले बच्चों को बर्थ सर्टिफिकेट की एक कॉपी वैक्सीन सेंटर मे ले जानी होगी ताकि उम्र की तस्दीक करके कोरोनावायरस इन लगाई जा सके ।

बच्चों को डिहाइड्रेशन से बचाने के करने होंगे प्रयास

राज्य कोविड टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर संतोष शुक्ला ने बताया कि तेज गर्मी के बीच धूप में बच्चे वैक्सीन लगाने पहुंचेंगे। ऐसे में गर्मी के कारण उन्हें डिहाइड्रेशन का शिकार होना पड़ेगा पसीना बहाने से शरीर में चक्कर और नमक की मात्रा कम होने से वह बेहोश भी हो सकता है। ऐसे में उन्हें वह ORS का घोल पिलाया जाए ताकि शरीर में नमक पानी की कमी ना हो।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here