बैतूल – भीमपुर में शनिवार रात को हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद प्रशासन स्थिति को सामान्य करने के प्रयासों में जुट गया है भीमपुर में आला अधिकारियों की उपस्थिति के साथ भारी पुलिस बल तैनात है भीमपुर छावनी में तब्दील हो गया है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए नर्मदापुरम संभाग के कमिश्नर और आईजी भी रात में भीमपुर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। पुलिस ने 31 प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। लगभग 30 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया है। मालूम हो कि अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर शनिवार को विभिन्न आदिवासी संगठनों ने धरना प्रदर्शन किया था।

This image has an empty alt attribute; its file name is hum059.jpg

शाम तक धरना प्रदर्शन चला और अतिक्रमण हटाने के लिए ज्ञापन सौंपने के दौरान प्रदर्शन उग्र हो गया। अचानक बिगड़ी स्थिति के बाद पत्रों एवं आगजनी की घटना हुई थी। स्थिति को नियंत्रण करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले छोड़ने की कार्यवाही की। इसके बाद एडीएम श्यामेंद्र जायसवाल और एडिशनल एसपी नीरज सोनी भी भीमपुर पहुंच गए थे। करीब 2 घंटे तक चले उपद्रव के बाद स्थिति नियंत्रण में आई। इस बीच एसपी सिमाला प्रसाद भी मौके पर पहुंचीं।
घटना की जानकारी मिलने के बाद नर्मदापुरम संभाग के कमिश्नर माल सिंह और आईजी दीपिका सूरी भी रात में ही भीमपुर पहुंच गए। उन्होंने जानकारी लेने के बाद अधिकारियों को आगे की कार्रवाई के लिए निर्देश दिए। एडिशनल एसपी नीरज सोनी के मुताबिक बलवा, शासकीय कार्य में बाधा, तोड़फोड़ और शासकीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की धाराओं में 31 लोगों पर नामजद एवं अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। 28 से 30 लोगों को हिरासत में ले लिया गया है। घटना की जांच चल रही है। वीडियोग्राफी के माध्यम से अन्य लोगों की पहचान की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here