मुलताई-   किसान संघर्ष समिति द्वारा प्रारंभ की गई एम एस पी  कानूनी गारंटी दो यात्रा अब तक 85 की गांव में पहुंच चुकी है किसान यात्रा के माध्यम से किसानों की अनेक समस्याएं उजागर हो रही है यात्रा के नवें दिन भिलाई, मोही,सुकाखेड़ी, निरगुड़, ऐनस, टेमझिरा, बड़ेगांव ,मोही आदि गावों में पहुंची। 

  इन ग्रामों  में नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुए किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष, पूर्व विधायक डॉ सुनीलम ने कहा कि फसल बीमा योजना किसानों को सुरक्षा कवच देने के लिए बनाई गई थी लेकिन सरकारों की मिलीभगत के कारण यह योजना बीमा कंपनियों के लिए अधिकतम मुनाफा कमाने का हथियार बन गई है। डॉ सुनीलम ने कहा कि एमएसपी की कानूनी गारंटी दो यात्रा का मकसद किसानों के बीच एम एस पी को लेकर जागरूकता फैलाना है। उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा की 15 जनवरी को दिल्ली में होने वाली बैठक में एमएसपी को लेकर आंदोलन की भावी रणनीति तैयार की जाएगी।

This image has an empty alt attribute; its file name is BTL-9-1-21-341.jpg

एनस  के ग्रामीणों ने 3 दिन से सिंचाई हेतु बिजली नहीं मिलने की शिकायत की। डॉ सुनीलम ने फोन कर अधिकारियों को लगातार फाल्ट बतलाकर बिजली  कटौती करने को लेकर चेतावनी दी।किसान संघर्ष समिति के जिलाध्यक्ष जगदीश दोड़के ने कहा कि 10 जनवरी को सुबह 10 बजे अनुविभागीय अधिकारी, मुलताई एवं जिलाधीश, बैतूल को वर्ष 2020 के फसल बीमा के भुगतान करने, कोरोना काल के बिजली बिल माफ करने, सभी फसलों की एम एस पी पर खरीद करने, दूध के दाम में वृद्धि करने एवम किसान सम्मान निधि के 3 वर्षों की 18 हज़ार रुपये और राज्य सरकार की 4हज़ार की राशि हर किसान को उपलब्ध कराने आदि  मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा जाएगा। यात्रा में शामिल  लक्मन बोरबन ,विनोदी महाजन ,तहसील अध्यक्ष कृपाल सिंह सिसोदिया,  शत्रुघ्न यादव ने भी नुक्कड़ सभाओं को संबोधित किया।

——————————————-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here