पत्नी ने मिलकर की थी पति की हत्या ,पुलिस ने किया अंधे कत्ल का पर्दाफाश, पत्नी सहित चार आरोपी गिरफ्तार

आमला से रोहित दुबे

मुलताई- आमला गोविंद कॉलोनी निवासी युवराज परिहार रेलवे कर्मचारी की मौत की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। एसडीओ पुलिस नम्रता सोंधिया ने अंधे कत्ल का खुलासा करते हुए बताया कि, युवराज की हत्या उसी की पत्नी ने तीन अन्य लोगों के सहयोग से की थी, हत्या के आरोप में पत्नी सहित चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया  है।

मामले की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि,  घटना के संबंध में संगीता पति युवराज परिहार उम्र 33 वर्ष नि. वार्ड न. 7 गोविन्द कालोनी आमला ने  रिपोर्ट लिखवाई थी कि, उसका पति युवराज परिहार रेल्वे मे तिगाँव मे नौकरी करता है जो  10 दिसंबर की शाम  घर आया था जो थोड़ी देर बातचीत करने के बाद बिना खाना खाये घर से चला गया, और रात मे घर वापस नही आया। दूसरे दिन  युवराज घर के पास मे बबूल के नीचे पड़ा हुआ था। जिसे  शासकीय अस्पताल आमला ले जाया गया जहां मृत घोषित कर दिया।

This image has an empty alt attribute; its file name is BTL-13-12-21-341.jpg

मृतक युवराज परिहार का पी.एम. कराया गया,  पी.एम. रिपोर्ट मे डाक्टर द्वारा मृतक की मृत्यु गला दबाने से होना बताया गया।  प्रकरण की गंभीरता को दृष्टीगत रखते हुये  पुलिस अधीक्षक  सुश्री सिमाला प्रसाद के द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक नीरज सोनी एवं  एसडीओपी मुलताई नम्रता सोधिया के मार्गदर्शन में पुलिस थाना आमला की टीम गठित कर प्रकरण की सूक्ष्मता से जाँच कर अज्ञात आरोपी की पतासाजी करने के निर्देश दिये गये। विवेचना के दौरान पाया गया कि मृतक के शरीर पर गले के अतिरिक्त अन्य किसी स्थान पर चोंट के कोई निशान नही है तथा परिजनों के द्वारा भी घर से मात्र 15 – 20 मीटर की दूरी पर पड़ा होना बताया गया। यह भी ज्ञात हुआ कि मृतक की 11 दिसंबर  को आमला कोर्ट मे चैक बाउंस के मामले मे पेशी है, तथा उसी प्रकरण मे राजीनामा करने के लिये रूपये लेकर मृतक की माँ चुनिया बाई ने अपने रिश्तेदार कैलाश देशमुख निवासी पोहर एवं मनोहर कालभोर नि. जौलखेड़ा को दोपहर मे पैसे लेकर घर पर बुलवाई थी। कैलाश देशमुख तो दोपहर मे ही आमला से अपने गाँव चला गया था, किन्तु मनोहर कालभोर के वापस जाने की कोई पुष्टि  नही हो पा रही थी। परिस्थितिजन्य साक्ष्य के आधार पर मनोहर कालभोर को अभिरक्षा मे लेकर हिकमत अमली से पूछताछ की गई। पूछताछ की गई तो उसने जुर्म स्वीकार कर बताया कि,  मृतक युवराज परिहार अपने साथ दारू लेकर आया था युवराज और मनोहर कालभोर दोनों ने  शराब पिये और फिर घर गये।

जहाँ पर मृतक युवराज का अपनी पत्नि संगीता परिहार से झगड़ा हुआ और युवराज संगीता को जूता फेककर मारा और गला पकड़कर दबाने लगा तो मनोहर कालभोर ने बीच बचाव का प्रयास किया ,युवराज मनोहर कालभोर को भी गंदी गंदी गालियाँ देने लगा। मनोहर कालभोर को गालियाँ बुरी लगी तो उसने भी युवराज का गला पकड़ लिया और दबाने लगा। जिससे युवराज नीचे गिर गया।

This image has an empty alt attribute; its file name is BTL-13-12-21-343.jpg

फिर संगीता ने अपने आप को छुड़ाकर एक नायलोन की रस्सी मनोहर कालभोर को दी और युवराज के हाथ पकड़कर रखी । मनोहर कालभोर ने नायलोन की रस्सी युवराज के गले मे लपेटकर जोर से खींच दिया। जिससे युवराज की मृत्यु हो गई। इसके बाद मनोहर कालभोर ने मोबाइल लगाकर अपने साढ़ू भाई का लड़का शेखर देशमुख को बुलाया तो शेखर अपने पिता की मोटरसाइकिल से दोस्त आशीष पवार के साथ ग्राम पोहर से आमला मृतक के मकान पर आया। जहाँ पर मनोहर कालभोर, शेखर देशमुख और आशीष पवार तीनों ने मृतक युवराज परिहार के शव को किसी को शंका न हो इसलिये घर से उठाकर बाजू मे बबूल के पेड़ के नीचे अंधेरे मे ले जाकर लिटा दिया और वापस अपने गाँव चले गये। मृतक की पत्नि सुनीता परिहार ने नायलोन की रस्सी भी लकड़ी की आलमारी मे छुपा दी और दूसरे दिन आसपास वालों के सहयोग से मृतक युवराज को आटो से अस्पताल लेकर आई और थाने पर झूठी रिपोर्ट लिखवाई कि उसका पति रात भर घर नही आया था।

This image has an empty alt attribute; its file name is BTL-13-12-21-342-1.jpg

 
आरोपी मनोहर कालभोर पिता हगरिया कालभोर उम्र 51 साल नि. जौलखेड़ा को गिरफ्तार कर उसके दिये गये मेमोरेण्डम के आधार पर आरोपीगण शेखर देशमुख पिता कैलाश देशमुख उम्र 20 वर्ष नि. ग्राम पोहर , आशीष डोंगरदिये पिता प्रेमलाल डोंगरदिये उम्र 21 वर्ष नि. ग्राम पोहर एवं मृतक की पत्नि संगीता परिहार पति युवराज परिहार उम्र 33 साल नि. गोविन्द कालोनी आमला को अभिरक्षा मे लेकर पूछताछ की गई तो उन्होने भी जुर्म स्वीकार कर बताया कि मृतक शराब पीने का आदि था और आये दिन पत्नि संगीता से झगड़ा मारपीट करता था। इस कारण आवेश मे आकर युवराज की गला दबाकर हत्या कर दी। चारो आरोपियों को गिरफ्तार कर  संगीता परिहार के कब्जे से घटना मे प्रयुक्त हरे रंग की नायलोन की रस्सी बरामद कर लिया गया है तथा आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा मे भेजा गया है। 

————————————————–

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here