मुलताई -घर में विराजे गणपति की प्रतिमा का विसर्जन ,सरोवर मे करने के बजाए, ताप्ती का जल लाकर अपने घरों में टब या बड़ी बाल्टी मे करें, और प्रतिमा की मिट्टी में एक पौधा अवश्य लगाएं ताकि गजानन गणेश हो सदैव याद रखा जा सके अनुसया सेवा संगठन इस की पूर्ति के लिए अभियान चलाकर लोगों को जागरूक कर रहा है

और घर घर जाकर नागरिकों को अपनी मुहिम से जोड़ने का प्रयास कर रहा है इस संबंध में जानकारी देते हुए कृष्णा साहू ने बताया कि संगठन यह अभियान अनेक वर्षों से चला रहा है जिसमें लोग जुड़ने लगे हैं और पर्यावरण संरक्षण के लिए स्वयं दूसरों को प्रेरित भी करने लगे हैं । संगठन के लोग लोगों को बताते हैं कि माँ ताप्ती का जल घर लाकर घर पर ही

This image has an empty alt attribute; its file name is BTL-18-9-21-341.jpg

गणेश  की छोटी व मझली मूर्ती को घर पर ही टब या बाल्टी, बड़े गंज में विषर्जन करने का  संकल्प ले। अनुसया  संगठन द्वारा पिछले कई सालों से यह मुहिम चलाई जा रही हैं, जिसमें इस वर्ष भी, सभी नगर विषयो से निवेदन किया जा रहा है कि ,घर पर ही ताप्ती का जल लाकर घर पर ही सह परिवार के साथ हर्ष उल्लास से विषर्जन करे एवं विसर्जन के बाद प्राप्त अवशेष मिट्टी में एक पौधा लगाए क्योकि शिवपुराण में भगवान भोलेनाथ ने कहा है कि

This image has an empty alt attribute; its file name is BTL-18-9-21-342.jpg

,जो वृक्षो की सेवा करता है एवं जल चढ़ाते हैं, वह मेरी ही सेवा करते हैं । माँ ताप्ती के जल संरक्षण हेतु गणेश प्रतिमा के विषर्जन हेतु माँ ताप्ती का जल लाकर अपने ही घरों में छोटी व मझूली मूर्तियों को टब व बाल्टी या गंज में विषर्जन करे तथा अवशेष मिट्टी में एक पौधा लगाकर पर्यावरण संरक्षण में सहयोग प्रदान करे और माँ ताप्ती के जल को प्रदूषित होने से बचाये इस मुहिम मे शामिल मे संगठन के कृष्णा साहू,विक्की प्रजापति पवन साहू,रितेश साहू, सुमित साहू श्याम कुरवाड़े आदि प्रमुख है।

————————————————————–+———–

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here