पांढुरना से अजय टावरे

पांढुरना- पांढुरना मे प्रतिवर्ष आयोजित होने वाले विश्व प्रसिद्ध गोटमार मेले को लेकर प्रशासनिक एवं मेला समितियों की तैयारियां प्रारंभ हो गई है। मेले को लेकर प्रशासन ने धारा 144 लागू कर दी है ,और गोफन एवं शस्त्र पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।  दूसरी ओर मेला समिति द्वारा प्रयास किया जा रहा है कि, गोटमार मेला परंपरागत रूप से आयोजित किया जाए और इसमें किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न ना हो। बता दें कि बीते वर्ष कोरोना महामारी को देखते हुए पोला पर्व पर पांढुर्ना में कर्फ्यू लागू कर दिया गया था और यह माना जा रहा था कि गोटमार मेले का आयोजन नहीं होगा, किंतु फिर भी गोटमार मेले का

This image has an empty alt attribute; its file name is aslam0222-1024x686.jpg
फाइल फोटो 

आयोजन हुआ जिसमें 200 से अधिक लोगों के घायल होने की जानकारी मिली, अनेकों बार पुलिस और नागरिक आमने-सामने हुए, पुलिस के वज्र वाहन पर भी पथराव हुआ, पिछले वर्ष की घटनाओं को देखते हुए प्रशासन इस वर्ष सतर्क दिखाई दे रहा है , और यह प्रयास भी किए जा रहे हैं कि, जनता एवं प्रशासन के बीच तालमेल बना रहे, हाल ही में जिला खनिज विभाग द्वारा एक पत्थर से भरे ट्रैक्टर ट्राली को पकड़ा गया जो नागरिकों के आक्रोश के बाद छोड़ दिया गया।

This image has an empty alt attribute; its file name is aslam0220.jpg

गोटमार मेले को लेकर बीते 1 सप्ताह में प्रशासन एवं जनप्रतिनिधियों के बीच दो प्रमुख बैठक आयोजित हो चुकी है जिसमें जनप्रतिनिधियों ने मेले को लेकर अपने सुझाव दिए तो वही, प्रशासन ने शासन के नियमों का हवाला दिया। छिंदवाड़ा जिला कलेक्टर गौरव कुमार सुमन ने इंदिरा स्मृति भवन में आयोजित शांति समिति, झंडा समिति, चंडी माता समिति की संयुक्त बैठक में ,जनप्रतिनिधियों से कहा कि, प्रशासन का काम आम जनता को परेशान करना नहीं है, बल्कि जनहित में व्यवस्था निर्माण करना है।

————————————————————————–

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here