बैतुल- नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट ,नीट के लिए बैतूल जिले से हजारों की संख्या में छात्र-छात्राएं अपने पालको के साथ भोपाल नीट परीक्षा केंद्रों पर पहुंच गए हैं। प्रशासन ने जिला स्तर पर इन परीक्षार्थियों को नीट परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाने की व्यवस्था कर रखी थी।

This image has an empty alt attribute; its file name is tapti0127-2-759x1024.jpg

बीते 2 दिनों से पालको में प्रशासन द्वारा की जा रही व्यवस्थाओं को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई थी किंतु बैतूल से लगभग 2,000 से अधिक परीक्षार्थी भोपाल, इंदौर और नागपुर भेजे गए जिसमें 2000 से अधिक छात्र छात्राओं के साथ पालकों की संख्या भी थी इतनी बड़ी संख्या में पालको और छात्र छात्राओं को परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाना जिला मुख्यालय के लिए भी एक चुनौती था। हालांकि मुख्यमंत्री शिवराज चौहान ने नीट परीक्षा के लिए ब्लॉक एवं जिला मुख्यालय पर व्यवस्था किए जाने के आदेश दिए थे। किंतु बैतूल जिले में परीक्षार्थियों की संख्या अधिक होने के कारण यह व्यवस्था बैतूल से की गई । मौसम को देखते हुए जिला शिक्षा विभाग द्वारा पालको  एवं छात्राओं को 1 दिन पूर्व ही बैतूल मुख्यालय बुला लिया गया था, जहां से 40 से अधिक बसों द्वारा इन्हें भोपाल ले जाया गया है। कुछ बसें इंदौर के लिए रवाना हुई और कुछ नागपुर के लिए ,अधिकांश जिले के छात्र छात्राओं ने सेंटर भोपाल ही भरा था जिसके कारण भोपाल सेंटर जाने वाले परीक्षार्थी छात्र-छात्राओं की संख्या अधिक थी।

मुलताई ब्लॉक में 200 से अधिक छात्र-छात्राएं ले रहे है भाग

मुलताई ब्लॉक की बात करें तो मुलताई  से लगभग 150 छात्र-छात्राएं भोपाल नीट परीक्षा एग्जाम में भाग लेगे, जबकि लगभग 20 छात्राएं इंदौर परीक्षा केंद्र में नीट की परीक्षा देगी इसके अलावा 12 से 15 छात्राएं नागपुर सेंटर से इस नीट परीक्षा में भाग लेगी। जिला शिक्षा अधिकारी एल.एल. सुनारिया के अनुसार जिले के संपूर्ण पालकों  और परीक्षार्थी छात्र छात्राओं को 1 दिन पूर्व जिला मुख्यालय पर बुलाया गया था, जिन्हें बसों द्वारा समय रहते परीक्षा केंद्र भेजा जाएगा। 

This image has an empty alt attribute; its file name is tapti0125-1-1024x519.jpg

परीक्षार्थियों को भोपाल परीक्षा केंद्र तक पहुंचाया गया

नीट परीक्षा व्यवस्था की बागडोर संभाल रहे जिला शिक्षा अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया था कि बैतूल से जाने वाले वाहनों में सवार पालको और परीक्षार्थियों को भोपाल के पार्किंग क्षेत्र में उतारा  जाएगा जहां से पालकों एवं छात्र छात्राओं को नीट के लिए बनाए गए परीक्षा केंद्रों तक अपने साधन से पहुंचना होगा। भोपाल में नीट परीक्षा के लिए 15 सेंटर बनाए गए हैं। किंतु नीट परीक्षा हेतु  भोपाल पहुंचे लोकेश फड़काडे ने बताया कि भोपाल में भी पार्किंग क्षेत्र से परीक्षा केंद्रों तक जाने के लिए प्रशासन द्वारा वाहन उपलब्ध कराया गया है।

रविवार देर रात तक पहुंचेंगे परीक्षार्थी बैतुल

नीट परीक्षा पूर्ण होने के बाद भोपाल से 40 से अधिक वाहन भोपाल से बैतूल के लिए रवाना होंगे जो देर रात तक बैतूल मुख्यालय पहुंचेंगे ऐसी स्थिति में पालको और छात्राओं का बैतूल मुख्यालय से अपने ब्लॉक एवं ग्राम सुदूर अंचलों में पहुंचना बड़ी समस्या होगा इस संबंध में जब हमने एल.एल. सुनारिया जिला शिक्षा अधिकारी से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि भोपाल से बैतूल लौटने पर पालको और छात्र छात्राओं की व्यवस्था उत्कृष्ट विद्यालय में की जाएगी ताकि सुबह होते ही यह लोग सुरक्षित अपने निवास पहुंच सके।

इनका कहना
नीट परीक्षार्थियों की संख्या अधिक होने के कारण  परीक्षार्थियों को जिला मुख्यालय से परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाने की व्यवस्था की गई है, देर रात वापस आने पर भी आवश्यक  व्यवस्था की जाएगी।
एलएल सुनारिया
जिला शिक्षा अधिकारी बेतूल

जेई की व्यवस्था ब्लॉक मुख्यालय पर की गई थी किंतु नीट परीक्षा मे परीक्षा केंद्र तक पहुंचाने की व्यवस्था बैतूल मुख्यालय पर की गई है।
पी कुंभारे
ब्लॉक शिक्षा अधिकारी मुलताई

————————————————————

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here